ठगी और जालसाजी का वांटेड बलिया में प्रशासनिक अफसरों के साथ मिलकर की ठगी, सोता रहा सरकारी महकमा

7007809707 for Ad Booking
Job Posting
tulsi hospital
tulsi hospital
tulsi hospital
tulsi hospital
tulsi hospital
tulsi hospital
tulsi hospital
tulsi hospital
previous arrow
next arrow
Shadow
Advertisement
sunbeam admission 2023
sunbeam admission 2023
sunbeam admission 2023
sunbeam admission 2023
sunbeam admission 2023
sunbeam admission 2023
sunbeam admission 2023
sunbeam admission 2023
previous arrow
next arrow
Shadow
Advertisement
Phynix-School
IEL-Ballia
DR Service Center
aashirwad hospital
Phynix-School
Phynix-School
IEL-Ballia
IEL-Ballia
DR Service Center
DR Service Center
aashirwad hospital
aashirwad hospital
previous arrow
next arrow
Shadow
Advertisement
City-hospital
City-hospital
pitambar
pitambar
City-hospital
City-hospital
pitambar
pitambar
previous arrow
next arrow
Shadow

7007809707 for Ad Booking

गलत तरीके से जांच कर चार व्यापारियों को भेज दिया जेल

बलिया। देश व प्रदेश के कई जिलों में ठगी और जालसाजी का वांटेड बलिया में प्रशासनिक अफसरों के साथ मिलकर ठगी कर डाली। वन्य अफसर बनकर जिले चार व्यापारियों के प्रतिष्ठानों को मोहरा बनाकर गलत मुकदमा वन्य अफसरों के माध्यम से दर्ज कराया। खुद को फंसते देख गधे की सींग की तरह से गायब भी हो गया। अब तो पुलिस और प्रशासन के अफसर अपनी गलती पर पर्दा डालने के चक्कर में पड़े हुए है। इस प्रकरण में शुक्रवार की देर शाम ओकडेनगंज पुलिस चौकी में धरना प्रदर्शन करने के बाद दूसरे दिन शनिवार की सुबह डीएम से मिलने पहुंचे व्यापारियों ने जमकर आक्रोश जताया उनका मानना था कि पुलिस और प्रशासन के अफसर थोड़ी सी भी सावधानी बरतते तो शायद यह दिन देखने को नहीं मिलता है अब तो कोर्ट ही ऐसे मामलों में सही दिशा निर्देश दे सकता है।

शहीद पार्क चौक के जड़ी बूटी और किराना व्यापारियों के साथ गलत व्यवहार और गलत तरीके से व्यापारियों को अपमानित करके गिरफ्तारी के विरोध में जनपद के विभिन्न व्यापारी संगठन के पदाधिकारियों ने शनिवार को बलिया डीएम सौम्या अग्रवाल से मिला और मांग पत्र सौंपा। इस दौरान व्यापारियों ने फर्जी अधिकारी बनकर जिले में अफसरों को भी धोखा देने का काम किया है। ऐसे में उक्त जालसाज और थक के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए इस दौरान व्यापारियों में जिला प्रशासन के अफसरों के प्रति भी आक्रोश देखने को मिला उनका मानना था कि पुलिस प्रशासन अगर चाहती तो शायद यह नहीं हो पाता।
जिसमे उल्लेख किया है कि बलिया में कोई दीपक नाम का फर्जी वन्य अधिकारी बनकर आया और डीएफ़ओ और बलिया के तमाम अधिकारियो के साथ सम्मानित व्यापारियों के दुकान पर जाकर उन्हें अपमानित किया तथा उन्हें गिरफ्तार कर फर्जी मुकदमा में फंसाया। जिनको अविलम्ब छोड़ा जाय तथा आगे से किसी भी व्यापारी के दुकान पर जाकर जाँच करनी हो व्यापार मंडल को सूचित करने के उपरांत जांच किया जाय। जब पूर्वांचल उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारियों के पूछने पर बलिया के प्रशासनिक अधिकारियो द्वारा भी उन्हें सही तथ्य को नहीं बताया गया जो बलिया के प्रशासनिक अधिकारियो कि उदासीनता को दर्शाता है। इसमें तत्काल प्रभाव से बदला जाय और व्यापार मंडल के पदाधिकारियों के सम्मान को भी ध्यान में रखा जाय। व्यापार मंडल बलिया के सम्मानित व्यापारियों को फर्जी धाराओं में दर्ज मुकदमे को फाइनल लगाते हुए व्यापारियों को अबिलम्ब छोड़ने कि मांग करता है। अन्यथा बलिया व्यापार मंडल आन्दोलन को बाध्य होगा। जिसकी पूरी जिम्मेदारी बलिया प्रशासन कि होगी। इस मौके पर पुर्व चेयरमैन लक्ष्मण गुप्ता, अरविंद गांधी, घनश्यामदास जौहरी, प्रदीप कुमार वर्मा (एडवोकेट), पूर्वांचल उद्योग व्यापर मंडल उप्र, जिलाध्यक्ष मंजय सिंह, रजनीकांत सिंह, सुनील परख, समेत विभिन्न संगठन के पदाधिकारी मौजूद रहे।

Advertisement
7007809707 for Ad Booking
Advertisement
holipath
holipath
dpc
dpc
aashirwad hospital
aashirwad hospital
holipath
holipath
dpc
dpc
aashirwad hospital
aashirwad hospital
previous arrow
next arrow
Shadow
Advertisement
mditech seo
MDITech creative digital marketing agency
mditech seo
mditech seo
MDITech creative digital marketing agency
MDITech creative digital marketing agency
previous arrow
next arrow
Shadow

9768 74 1972 for Website Design and Digital Marketing

Pradeep Gupta

Nothing but authentic. Chief Editor at www.prabhat.news

One thought on “ठगी और जालसाजी का वांटेड बलिया में प्रशासनिक अफसरों के साथ मिलकर की ठगी, सोता रहा सरकारी महकमा

  • September 25, 2022 at 10:27 am
    Permalink

    Sir, mai prabhat khabar ke khilaaf Press council of india mein mujhe badnam karne, fake news dikhane aur jhuthi afwah failane k khilaaf complaint de raha hu, prabhat khabar ka reporter pradeep gupta keh raha hai ki desh aur pradesh ke kai zilo mein thagi ka wanted aur farzi afsar, jo ki bilkul fake aur niradhar hai, kyonki inka bhai paras nath gupta wild animals ke parts aur skin bechte hue rangey haath pakda gaya hai aur ye usi ko chhudane aur dabaav banane ke liye aisa kar raha hai, maine contact karne ki bhi koshish ki par contact nahi ho saka, sir mujhe fake officer inke dwara bataya ja raha hai jabki mai to koi officer tha hi nahi mai to kewal informer tha jo ki saara forest department jaanta hai aur ye galat news faila rahe hain to ab mere dwara Press Council Of India mein complaint di gayi hai uss news ki photos aur real events ki. Thank you

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *